U.P Madhyamic Shiksha Parishad

News By Month


हाईस्कूल में वैशाली को मिली बड़ी सफलता


Date : August

Posted By : Sameer khan

ऐसा पहली बार हो रहा था, जब यूपी बोर्ड ने एक ही दिन अपने हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के एग्जाम के रिजल्ट एक साथ जारी कर दिये. एक ओर जहां इंटरमीडिएट के रिजल्ट में लखनऊ पब्लिक स्कूल के स्टूडेंट्स ने स्टेट के टॉप थ्री प्लेस के साथ राजधानी के टॉप सिक्स्थ प्लेस पर अपना कब्जा जमाया. तो वहीं हाईस्कूल के रिजल्ट में भी इसी स्कूल के छात्र-छात्राओं ने टॉप फाइव प्लेस में भी जगह बनाने में कामयाब रहे.
 
हाईस्कूल में वैशाली रही सिटी टॉपर
 
इस बार हाईस्कूल के रिजल्ट में लखनऊ पब्लिक स्कूल की वैशाली सिंह ने 9ब्.म्म् परसेंट के साथ राजधानी में फ‌र्स्ट प्लेस हासिल किया. तो वहीं सेकेंड प्लेस पर 9ब्.क् परसेंट के साथ अवध कॉलिजिएट की अपर्णा शुक्ला रहीं. जबकि थर्ड प्लेस में एक बार फिर से 9ब् परसेंट के साथ लखनऊ पब्लिक स्कूल के क्षितिज जायसवाल रहे. वहीं फोर्थ प्लेस पर लखनऊ पायनियर मॉन्टेसरी स्कूल के 9फ्.म्म् परसेंट के साथ यशराज शर्मा रहे. वहीं फिफ्थ प्लेस पर एसकेडी एकेडमी के राहुल कुमार वर्मा ने 9फ्.क्7 परसेंट प्राप्त किया.
 
बोर्ड का डर हो रहा खत्म
 
इंटरमीडिएट व हाईस्कूल का रिजल्ट पिछले दो सालों की तरह इस साल भी काफी बेहतर रहा है. हालांकि इसमें थोड़ी गिरावट जरूर देखी गई है. एक टाइम था, जब स्टूडेंट्स के बीच यूपी बोर्ड किसी बडे़ एग्जाम से कम नहीं कहा जाता था. लेकिन बोर्ड का बदला पैटर्न और मूल्याकंन प्रणाली में हुए चेंज की वजह से बोर्ड की दहशत स्टूडेंट्स में कम हो गई है.
 
कई स्कूलों का रिजल्ट रहा परफेक्ट
इस बार यूपी बोर्ड के हाईस्कूल का रिजल्ट न केवल स्टूडेंट्स के लिए खुशी लेकर आया है, बल्कि कई स्कूलों के लिए बेहतर रिजल्ट लेकर आया है. राजधानी के अवध कॉलिजिएट, एसकेडी एकेडमी, एलपीएस, सेंट मिराज, सेंट जोजफ इंटर कॉलेज और क्रिएटिव कांवेंट जैसे स्कूलों में सभी स्टूडेंट्स पास हो गए हैं. इन स्कूलों का रिजल्ट भी शत प्रतिशत रहा है.
 
चार साल में सबसे कम परसेंट रहा
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के बोर्ड एग्जाम इस साल पहली बार फरवरी मंथ में आयोजित हुआ था. यूपी बोर्ड के एग्जाम क्9 फरवरी से शुरू हुआ था. जो ख्0 मार्च तक आयोजित किया गया था. जबकि कॉपियों के मूल्यांकन का काम फ्0 मार्च से क्फ् अप्रैल तक आयोजित किया गया था. इस बार राजधानी में हाईस्कूल के एग्जाम में भ्778ख् स्टूडेंट्स शामिल हुए थे.
 इस साल हाईस्कूल में स्टेट का ओवर ऑल रिजल्ट 8फ्.म्ब् स्टूडेंट्स सफल रहे है. जबकि राजधानी में यह आकड़ा 8क्.8म् फीसदी ही रहा है. यह पिछले चार सालों का सबसे कम पास प्रतिशत रहा है. ख्0क्ब् में 8ब्.क्0 फीसदी स्टूडेंट्स सफल हुए थे. वहीं ख्0क्फ् में यह 8म्.फ्0 प्रतिशत और ख्0क्ख् में 8म्.7ब् फीसदी दर्ज की गई थी. जानकार इस गिरावट के लिए नकल माफियाओं पर नकेल कसने का असर दिख रहा है. क्वींस इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. आरपी मिश्रा ने बताया कि इस साल एग्जाम में नकल माफिया को रोकने के लिए उठाए गए कदम के कारण ऐसा रिजल्ट देखने को मिला है.
इंटरमीडिएट के बाद हाईस्कूल में इस तरह के रिजल्ट वाकई अच्छे हैं और आगे परिणाम और बेहतर मिलेंगे इसकी उम्मीद है.

Copyright © 2014 Madhyamic Shiksha Board